Microsoft Outlook Kya Hai No.1 Easy and Simple Outlook Tutorial In Hindi

Microsoft Outlook Kya Hai

नमस्कार मित्रों, यहाँ हम माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक के बारे जानेगे कि Microsoft Outlook Kya Hai, outlook express kya hai, outlook ko configure kaise kare, और वो सब जो आप आउटलुक के बारे में जानना चाहते हैं।

हो सकता है कि आपके पास कई ईमेल अकाउंट हों और उनको एक्सेस करने के लिए आपको बार-बार उनकी वेबसाइट पर जाकर लॉगिन करना पड़ता होगा जिसमे काफी समय बर्बाद होता है, पर यदि आप आउटलुक का उपयोग करते हैं तो आप सभी ईमेल एकाउंट्स को एक साथ एक जगह मैनेज कर सकते है।

तो यदि आपके मन में भी यही सवाल है कि Microsoft Outlook Kya Hai, Microsoft Outlook kaise use kare, Microsoft Outlook ke kya fayde hai, तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें और आपको आपके सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

Contents hide

Microsoft Outlook Kya Hai

माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक एक ईमेल क्लाइंट सर्विस है यह सभी ईमेल सर्विस प्रोवाइडर्स जैसे जीमेल, याहू, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, और अन्य के लिए ईमेल क्लाइंट की तरह काम करता है, हम कई ईमेल एकाउंट्स को एक साथ आउटलुक के साथ कनेक्ट कर सकते हैं और उनको एक जगह मैनेज कर सकते हैं।

हम ब्राउज़र में कोई भी ईमेल अकाउंट ओपन किये बिना आउटलुक से सभी ईमेल अकाउंट के इमेल्स भेज और प्राप्त कर सकते हैं आउटलुक में हम कांटेक्ट लिस्ट बना सकते हैं, कैलेंडर में रिमाइंडर सेट कर सकते हैं, आगे किये जाने वाले कार्यों के लिए टू डू लिस्ट बना सकते हैं।

अगर आप इंटरनेट पर अपनी सुरक्षा और प्राइवेसी को लेकर चिंतित है और अपने कनेक्शन को प्राइवेट बनाना चाहते है तो आप VPN Kya Hota Hai? VPN Kaise Use Kare No.1 Free Hindi Guide इस लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

आउटलुक को एक्सेस कैसे करे(How to access outlook)

मॉरोसॉफ़्ट आउटलुक को एक्सेस करने के लिए आपके पास दो चीजों का होना बहुत जरुरी है पहला माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट और दूसरा आपके कंप्यूटर या लैपटॉप में माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस, अधिकांश माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के वर्जन में आपको वर्ड, एक्सेल और अन्य के साथ आउटलुक भी मिलता है।

माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट कैसे बनाये – माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट बनाने के लिए www.microsoft.com पर जाये और दाई तरफ तरफ ऊपर दिए गए अकाउंट लोगो पर क्लिक करें, अगली विंडो में क्रिएट पर क्लिक कीजिये और अपना आउट लुक ID और पासवर्ड बनाइये, आपका माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट बन जायेगा।

आउटलुक को एक्सेस कैसे करें – विंडो बटन पर क्लिक करे और माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पर जाये और आउटलुक ओपन करें या सीधे विंडोज के सर्च बार में आउटलुक सर्च करे, वो आपसे ID और पासवर्ड मांगेगा, अपना आउटलुक ID और पासवर्ड एंटर करें, आपको आउटलुक का एक्सेस मिल जायेगा।

आउटलुक को जीमेल या किसी अन्य ईमेल अकाउंट के साथ कॉन्फ़िगर कैसे करे

जैसा कि हम जानते हैं कि आउटलुक एक ईमेल क्लाइंट है तो हमें किसी ईमेल अकाउंट को आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर करना होगा जैसे जीमेल, याहू, हॉटमेल, यहाँ हम उदाहरण के लिए जीमेल को कॉन्फ़िगर कर रहे हैं, ईमेल अकाउंट को आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर करने के दो तरीके हैं =>

  • आटोमेटिक कॉन्फिग्रेशन
  • मैन्युअल कॉन्फिग्रेशन

अगर आप जानना चाहतें हैं कि जीमेल अकाउंट कैसे बनाये और उनको कैसे प्रयोग करें ये जानने के लिए आप लिंक पर क्लिक करके हमारा जीमेल वाला पोस्ट पढ़ सकते हैं।

जीमेल को आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर कैसे करे (How to configure Outlook with Gmail)

जीमेल सेटिंग

जीमेल को आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर करने के लिए हमें जीमेल की सेटिंग्स में कुछ अपडेट करना होगा =>

https://hinditech4u.com/
  1. जीमेल के अकाउंट पेज पर जाइये और सेटिंग्स पर क्लिक कीजिये, उसके बदफ see all settings पर क्लिक कीजिये, सेटिंग पेज पर आने के बाद Forwarding and POP/IMAP पर क्लिक कीजिये, POP/IMAPपेज पर आने के बाद POP and IMAP को इनेबल कर दीजिये, उसके बाद नीचे स्क्रॉल कीजिये और save all setting पर क्लिक कीजिये।
  2. इस सेटिंग के बाद ऊपर दाई तरफ दिए गए अकाउंट के सिंबल पर क्लिक कीजिये, उसके बाद manage your google account पर क्लिक कीजिये आप अकाउंट पेज पर रेडिरेक्ट कर दिए जाएंगे।
  3. गूगल अकाउंट पेज में सिक्योरिटी सेक्शन में less secure app access ढूंढिए और उसे ऑन कर दीजिये क्युकि ऐसा हो सकता है कि जीमेल सुरक्षा कारणों से आउटलुक को कनेक्ट न करने दे, जीमेल को आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर करने के बाद इस सेटिंग को बंद कर दीजिये।

अगर आप गूगल को बहुत ही साधारण तरीके से उपयोग करते हैं तो आपको जरूर जानना चाहिए की गूगल पर सर्च कैसे करे 17 बेस्ट गूगल सर्च ट्रिक्स इन हिंदी लिंक पर क्लिक करके आप हमारा वह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

आउटलुक के साथ जीमेल का कॉन्फिग्रेशन

अगर आपने जीमेल में ऊपर बताई गई सभी सेटिंग्स कर ली है तो अब हम आउटलुक को जीमेल के साथ कॉन्फ़िगर करेंगे, आउटलुक ओपन कीजिये और आउटलुक अकाउंट से sign in कीजिए, आप आउटलुक के अकाउंट पेज पर पहुंच जाएंगे। आउटलुक का इंटरफ़ेस भी माइक्रोसॉफ्ट वर्ड के जैसा ही होता है।

शीर्ष पर, विभिन्न अनुभागों(sections) जैसे फ़ाइल, होम, व्यू और अन्य रिबन के साथ एक टूलबार मेनू है। रिबन में, आपको अलग-अलग उप-अनुभाग(sub-sections) और संचालन करने के लिए ऑप्शन मिलेंगे, जिस पर हम बाद में चर्चा करेंगे।

यहाँ हमें अपने जीमेल अकाउंट को आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर करना है, फाइल पर क्लिक करने के बाद अकाउंट सेटिंग पर क्लिक कीजिये, फिर अगली पॉप-अप विंडो में फिर से अकाउंट सेटिंग पर क्लिक कीजिये, आप अकाउंट सेटिंग पेज पर रिडायरेक्ट कर दिए जाएंगे।

अकाउंट सेटिंग पेज पर आपको कई अलग-अलग ऑप्शन मिलेंगे, ईमेल पर जाइये और न्यू पर क्लिक कीजिये आप न्यू अकाउंट सेटिंग पेज पर पहुंच जाएंगे।

न्यू अकाउंट सेटिंग पेज पर आपको आउटलुक के साथ अपना ईमेल अकाउंट कॉन्फ़िगर करने के दो ऑप्शन मिलेंगे ऑटोमैटिक अकाउंट सेटिंग विथ ईमेल ID एंड पासवर्ड और एडवांस मैन्युअल सेटिंग

ऑटोमैटिक कॉन्फिग्रेशन – ऑटोमैटिक कॉन्फिग्रेशन में आपको सिर्फ ईमेल ID और पासवर्ड एंटर करना है जैसा हमने आउटलुक का ID पासवर्ड एंटर किया था और आपका जीमेल अकाउंट कॉन्फ़िगर हो जाएगा।

जीमेल अकाउंट का आउटलुक के साथ मैन्युअल कॉन्फिग्रेशन

  • जीमेल अकाउंट को आउटलुक के साथ मैनुअली कॉन्फ़िगर करने के लिए अपना ईमेल ID एंटर कीजिये और मैन्युअल कॉन्फ़िगरेशन/एडवांस ऑप्शन पर क्लिक कीजिये, let me set up my account manually पर टिक कीजिये और कनेक्ट पर क्लिक कीजिये।
  • हम यहाँ Microsoft outlook 365 यूज़ कर रहे हैं यहाँ यह एक एडवांस सेटअप विंडो शो कर रहा है, आप अकाउंट को सेटअप करने के लिए कोई भी ऑप्शन सेलेक्ट कर सकते हैं, हम IMAP को सेलेक्ट करेंगे और कंटिन्यू करेंगे, यह आपसे पासवर्ड पूछेगा और फिर जीमेल के साथ कनेक्ट करेगा।
  • अगर आप माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का कोई और वर्जन उपयोग कर रहे हैं तो IMAP पर क्लिक करने के बाद आप नीचे दिखाई गई विंडो पर पहुंच जाएंगे, यहाँ आपको अपनी सभी डिटेल्स एंटर करना है जैसे नाम, ईमेल ID,
    • सर्वर इनफार्मेशन – अकाउंट टाइप IMAP
    • इनकमिंग मेल सर्वर – imap.gmail.com
    • आउटगोइंग मेल सर्वर – smtp.gmail.com
https://hinditech4u.com/
  • उसके बाद अपना जीमेल ID और पासवर्ड एंटर कीजिये।
  • रिमेम्बर पासवर्ड पर टिक कर दीजिये जिससे वह दोबारा पासवर्ड नहीं मांगेगा, उसके बाद नेक्स्ट पर क्लिक कीजिये
  • यह कॉन्फ़िगर करने में कुछ टाइम लेगा और यदि आपने सभी सेटिंग सही से की हैं तो आपका जीमेल अकाउंट आउटलुक के साथ कॉन्फ़िगर हो जाएगा।

यहाँ हम सीख चुके हैं कि Microsoft Outlook Kya Hai और आउटलुक को जीमेल के साथ कॉन्फ़िगर कैसे करे(How to configure Outlook with Gmail) अब हम सीखेंगे कि आउटलुक का उपयोग कैसे करे(How to use Microsoft Outlook)

आउटलुक का उपयोग कैसे करे(How to use Microsoft Outlook)

Outlook Express Kya Hai(What Is Outlook Express?)

आउटलुक एक्सप्रेस माइक्रोसॉफ्ट की एक पुरानी मेल एप्लीकेशन है जिसे माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट मेल एंड न्यूज़ के नाम से भी जाना जाता है, यह विंडोज के विभिन्न वर्जन के साथ बंडल किया गया था जैसे – Windows 98 से 2003, Windows 3.x, NT 3.51, 95, Mac System 7, Mac OS 8, and Mac OS 9,

आउटलुक एक्सप्रेस का उपयोग इमेल्स को भेजने/प्राप्त करने, और उनका प्रबंधन करने के लिए किया जाता था परन्तु 10 जनवरी 2017 को माइक्रोसॉफ्ट ने आउटलुक एक्सप्रेस को बंद कर दिया और उसकी जगह नया आउटलुक लांच किया जिसमे हमें इमेल्स को भेजने/प्राप्त करने और उनको मैनेज करने के लिए ईमेल क्लाइंट और उसके साथ कैलेंडर, कांटेक्ट लिस्ट और टू डू लिस्ट जैसे अन्य फीचर भी मिलते हैं।

अब हम सीखेंगे कि आउटलुक का उपयोग कैसे करे(How to use Microsoft Outlook), हम आउटलुक को चार कार्यों में यूज़ कर सकते हैं =>

  1. क्लाइंट ईमेल
  2. कैलेंडर
  3. कांटेक्ट लिस्ट
  4. टू डू लिस्ट

अगर आप जानना चाहते है घर बैठे किसी के कंप्यूटर कैसे एक्सेस किया जा सकता है या अपनी बड़ी फाइल को कैसे भेज सकते हैं तो आपको जानना चाहिए कि TeamViewer Kya Hai (What Is TeamViewer)? Yah Kaise Kam Karta Hai इसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके हमारा यह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

आउटलुक क्लाइंट ईमेल क्या है(What Is Outlook Client Email)

जैसा कि हम जानते हैं कि आउटलुक एक ईमेल क्लाइंट सर्विस है अर्थात हम इसके द्वारा विभिन्न ईमेल अकाउंट को कॉन्फ़िगर करके एक साथ एक ही जगह उनको मैनेज कर सकते हैं ईमेल भेज या प्राप्त कर सकते हैं, यहाँ हमें टूलबार में कई ऑप्शन मिलते हैं जिनके बारे में हम एक एक करके जानेगे

होम मेनू

  • न्यू ईमेल – इसके द्वारा हम न्यू ईमेल क्रिएट कर सकते है, इसका इंटरफ़ेस भी जीमेल की तरह ही होता है, To में हमें ईमेल प्राप्त करने वाले का ईमेल एड्रेस एंटर करना होता है, उसके बाद ईमेल का विषय और फिर ईमेल का विवरण, चूकि हमें यहाँ MS वर्ड वाले सभी ऑप्शन मिलते हैं जिससे हम शब्दों को बोल्ड, इटैलिक करना, फॉण्ट साइज बदलना, फाइल अटैच करना और भी बहुत से अन्य ऑप्शन, जब आपका ईमेल तैयार हो जाए तो send पर क्लिक कीजिये आपका ईमेल चला जाएगा।
  • न्यू आइटम्स – यहाँ से भी आप वही कार्य कर सकते हैं इस पर क्लिक करके आप न्यू ईमेल/न्यू मीटिंग/नया कांटेक्ट या नई टू डू लिस्ट बना सकते हैं।
https://hinditech4u.com/

डिलीट सेक्शन

  • इगनोर(नजर अंदाज करना) – अगर आप किसी के इमेल्स को इग्नोर करना चाहते हैं तो उसे सेलेक्ट कीजिये और इग्नोर पर क्लिक कर दीजिये उसके ईमेल इग्नोर कर दिए जाएंगे।
  • क्लीनअप – यहाँ आप इमेल्स, फ़ोल्डर्स और अन्य का क्लीनअप कर सकते हैं।
  • जंक – यहाँ से आप जंक ईमेल देख सकते हैं, किसी को या उसके डोमेन को या पूरे ग्रुप को ब्लॉक कर कर सकते हैं।
  • डिलीट – यहाँ से आप किसी भी ईमेल को डिलीट कर सकते हैं।
  • आर्काइव – यहाँ से अप्प किसी भी ईमेल को आर्काइव फोल्डर में मूव कर सकते हैं।

रेस्पॉन्ड सेक्शन

  • रिप्लाई – यहाँ से आप किसी भी ईमेल का रिप्लाई कर सकते हैं उस ईमेल को सेलेक्ट कीजिये और रिप्लाई पर क्लिक कर दीजिये।
  • रिप्लाई आल – अगर किसी ईमेल में एक से ज्यादा प्राप्तकर्ता हैं तो आप यहाँ से उन सबको एक साथ रिप्लाई कर सकते हैं।
  • फॉरवर्ड – यहाँ से आप किसी भी ईमेल को किसी अन्य व्यक्ति को अग्रेषित कर सकते हैं।
  • मीटिंग – यहाँ से आप किसी को भी मीटिंग शेडूल के अनुसार रिप्लाई कर सकते हैं।
  • मोर – यहाँ से आप रिप्लाई में अटेचमेंट भेज सकते हैं।

क्विक स्टेप्स

  • मूव टू – यहाँ से आप कार्यों को जल्दी से करने के लिए कुछ क्विक स्टेप्स बना सकते है, मान लीजिये आप इमेल्स को विभिन्न फ़ोल्डरों में मूव करना चाहते हैं तो यहाँ आप वो फोल्डर बना सकते हैं और फिर उन इमेल्स को सेलेक्ट करके फोल्डर पर क्लिक कीजिये आपके इमेल्स उस फोल्डर में मूव हो जाएंगे।
  • टीम – यहाँ आप अपने कांटेक्ट की टीम बना सकते है और उन्हें एक साथ एक बार में ईमेल भेज सकते हैं, और इसी तरह से अन्य ऑप्शन भी हैं।

मूव सेक्शन

  • मूव – यहाँ से आप इमेल्स को मूव करने के लिए अलग-अलग फोल्डर बना सकते हैं।
  • रूल्स – यहाँ से आप रूल बना सकते है जैसे कि किसी व्यक्ति द्वारा भेजा गया ईमेल इस फोल्डर में जाना चाहिए और इसी तरह अन्य।
  • वन-नोट – यहाँ से आप किसी भी ईमेल को वननोट में मूव कर सकते हैं।

टैग्स

यहाँ से आप पढ़े/अनपढ़े इमेल्स को देखने के लिए टैग बना सकते हैं, विभिन्न प्रकार के इमेल्स के लिए केटेगरी बना सकते हैं, किसी ईमेल या भेजने वाले के इमेल्स को फॉलो करने के लिए उस पर फ्लैग लगा सकते हैं।

फाइंड

यहाँ से आप कांटेक्ट लिस्ट से किसी कांटेक्ट को या किसी भी ईमेल को ढूंढ सकते हैं।

फेवरिट्स

इस सेक्शन को आप आउटलुक में नीचे बाई तरफ देख सकते हैं, यहाँ से आप अपने पसंदीदा फ़ोल्डर्स जैसे इनबॉक्स, सेंट आइटम्स, और अन्य को देख सकते हैं, आप किसी अन्य फोल्डर को भी अपने फेवरिट फोल्डर में ऐड कर सकते हैं, सिर्फ माउस पर राइट क्लिक कीजिये आपको फोल्डर का ऑप्शन मिल जाएगा जहाँ से आप नया फेवरिट फोल्डर ऐड कर सकते हैं।

इसके बाद आपको अपनी कॉन्फ़िगर की हुई सभी ईमेल IDs दिखेंगी जिन पर क्लिक करके आप उनके सभी इमेल्स जैसे इनबॉक्स, सेंट, ड्राफ्ट, आउटबॉक्स देख सकते हैं।

हमने यहाँ जीमेल को कॉन्फ़िगर करके बताया है आप इसी तरह अन्य इमेल्स को भी कॉन्फ़िगर कर सकते हैं।

हम सब इंटरनेट का उपयोग करते हैं पर यदि कोई पूछे की इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है तो हम उसे नहीं समझा पाएंगे इसीलिए हमने इंटरनेट पर पूरा गाइड तैयार किया है और पोस्ट लिखा है, जिसे पढ़कर आप अपनी इंटरनेट के बारे में जानकारी को बढ़ा सकते हैं।

आउटलुक कैलेंडर

बाई तरफ ईमेल के बाद आपको अगला ऑप्शन कैलेंडर का मिलेगा, यहाँ आप नया अपॉइंटमेंट, नई मीटिंग बना सकते हैं।

कैलेंडर में अपॉइंटमेंट या मीटिंग बनाने का फायदा यह है कि यदि आपका कोई अपॉइंटमेंट तीन महीने बाद है तो हो सकता है कि आप उसे या उसके जगह और टाइम को भूल जाएं पर यदि आपने उसे कैलेंडर में बनाया है तो उसे आप कैलेंडर में आसानी से ढूंढ सकते हैं और यह आपको ईमेल के माध्यम से मीटिंग के बारे में नोटिफिकेशन भी भेजेगा।

कैलेंडर में नया अपॉइंटमेंट या मीटिंग बनाने के लिए उस तारीख को सेलेक्ट कीजिये जिस पर आपको अपॉइंटमेंट बनाना है, फिर उस पर राइट क्लिक कीजिये या फिर आप ऊपर बाई तरफ दिए गए न्यू सेक्शन में जाकर भी न्यू अपॉइंटमेंट/मीटिंग क्रिएट कर सकते हैं।

न्यू अपॉइंटमेंट विंडो पर अपना विषय, लोकेशन, स्टार्ट डेट और टाइम एंटर कीजिए और फिर ऊपर दिए गए सेव पर क्लिक कर दीजिये।

यहाँ रिबन में आपको और भी अन्य ऑप्शंस मिलेंगे जिनके बारे में हम एक एक करके जानेगे =>

  • न्यू – यहाँ हम नया अपॉइंटमेंट या मीटिंग बना सकते हैं जैसा की ऊपर बताया गया है।
  • स्काइप मीटिंग – यहाँ पर आप स्काइप मीटिंग क्रिएट कर सकते हैं।
  • गो टू – यहाँ से आप अपनी आने वाली मीटिंग देख सकते हैं कि आज या आने वाले हफ्ते में आपकी कौन सी मीटिंग है।
  • अरेंज – यहाँ आप अपनी मीटिंग के व्यू को डेली, वर्किंग डेज, वीकली, मंथली आधार पर अरेंज या सेट कर सकते हैं।
  • मैनेज कैलेंडर्स – यहाँ आप अपने डिपार्टमेंट में शेयर किया जाने वाला कैलेंडर क्रिएट और मैनेज कर सकते हैं और अलग-अलग विभागों के लिए अलग-अलग कैलेंडर बना सकते हैं।
  • शेयर – यहाँ से आप अपने कैलेंडर को ईमेल, शेयर या ऑनलाइन पब्लिश कर सकते हैं।

अगर आपका कंप्यूटर या लैपटॉप स्लो चलता है या आप उसकी ख़राब परफॉरमेंस से परेशान हैं और अपने कंप्यूटर की स्पीड बढ़ाना चाहते हैं, तो आप हमारा पोस्ट कंप्यूटर की स्पीड कैसे बढ़ाएं सिस्टम को सुपरफास्ट कैसे बनायें पढ़ कर अपने कंप्यूटर को पहले जैसे फ़ास्ट बना सकते हैं।

आउटलुक कांटेक्ट लिस्ट

कांटेक्ट लिस्ट आउटलुक का तीसरा महत्वपूर्ण फंक्शन है, यहाँ आप अपने इमेल्स या फ़ोन नंबर की कांटेक्ट लिस्ट, कांटेक्ट ग्रुप बना सकते हैं और उन्हें ईमेल करने के लिए उपयोग कर सकते हैं।

कांटेक्ट को एक्सेस करने के लिए कैलेंडर आइकॉन के बाजू के पीपल(people) आइकॉन पर क्लिक कीजिये आप कांटेक्ट पेज पर पहुंच जाएंगे।

My Contacts के बाई तरफ आप अपनी कांटेक्ट लिस्ट देख सकते हैं नया कांटेक्ट बनाने के लिए ऊपर बाई तरफ न्यू सेक्शन में न्यू कांटेक्ट पर क्लिक कीजिये, उस पर क्लिक करते ही एक नई विंडो ओपन हो जाएगी।

यहाँ आपको उस व्यक्ति की सभी डिटेल्स एंटर करना है जैसे – नाम, कंपनी, जॉब, ईमेल, फ़ोन नंबर, पोस्टल कोड सब डिटेल save & close पर क्लिक कीजिये, यह कांटेक्ट आपकी कांटेक्ट लिस्ट में सेव हो जाएगा।

यहाँ कुछ अन्य ऑप्शन भी हैं जैसे कांटेक्ट ग्रुप, आप ग्रुप बनाकर सबको एक साथ ईमेल भेज सकते हैं, आप कांटेक्ट व्यू का स्टाइल चेंज कर सकते हैं जैसे पीपल या बिज़नेस, आप अपने कॉन्टेक्ट्स को शेयर भी कर सकते हैं।

आउटलुक टू डू लिस्ट

टू डू लिस्ट आउटलुक का एक अन्य फंक्शन है, टू डू लिस्ट को एक्सेस करने के लिए people आइकॉन के बाजू के टू डू आइकॉन पर क्लिक कीजिये, उस पर क्लिक करते ही आप अन्य पेज पर डायरेक्ट कर दिए जाएंगे जहाँ आप न्यू टास्क क्रिएट कर सकते हैं और अपनी प्रोग्रेस को सेव कर सकते हैं।

नया टास्क क्रिएट करने के लिए ऊपर बाई तरफ न्यू सेक्शन में न्यू टास्क पर क्लिक कीजिये, एक नई विंडो ओपन हो जाएगी जहाँ आप अपना न्यू टास्क क्रिएट कर सकते हैं, अपने टास्क का विषय, स्टार्ट डेट, अंतिम तारिख, प्रोग्रेस, टास्क की प्राथमिकता, उसका महत्व सब एंटर कीजिये और save & close पर क्लिक कीजिए आपका टास्क सेव हो जाएगा और आपकी टू डू लिस्ट में दिखने लगेगा।

यहाँ और भी अन्य ऑप्शन हैं जैसे – डिलीट, मैनेज टास्क, रेस्पॉन्ड और भी अन्य।

अब तक हमने जाना कि Microsoft Outlook Kya Hai, outlook express kya hai, आइये अब जानते हैं कि outlook ke kya fayde hain(Advantages of Microsoft Outlook)

क्या आप जानते हैं कि कॉल फॉरवार्डिंग क्या है और इसके क्या फायदे हैं जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा कॉल फॉरवार्डिंग का पोस्ट पढ़ कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक के लाभ/महत्व/फायदे(Advantages of Microsoft Outlook)

यहाँ हम outlook ke kya fayde hain(Advantages of Microsoft Outlook) जानेंगे =>

  • फ्री सर्विस – आउटलुक का पहला फायदा यह है कि यह एक फ्री ईमेल क्लाइंट सर्विस है माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक को माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के साथ देता है जिसके लिए आपको अलग से कुछ भी खर्च नहीं करना पड़ता।
  • सभी डिवाइस पर काम करता है – आउटलुक हर डिवाइस पर काम करता है चाहे आप कंप्यूटर या लैपटॉप यूज़ करो या अपने एंड्राइड या एप्पल फ़ोन पर उसे करना चाहो अपने फ़ोन पर आउटलुक यूज़ करने के लिए आप इसके एप को गूगल प्ले स्टोर या एप्पल एप स्टोर से इंसटाल करके यूज़ कर सकते हैं।
  • सुरक्षा – आउटलुक एक सुरक्षित सर्विस है क्युकि इसमें सबकुछ आपके नियंत्रण में रहता है, आप इसमें सीमा तय कर सकते हैं कि कौन आपके ईमेल और फाइल्स देख सकता है, आप अपनी आउटलुक की सभी एक्टिविटीज को चेक कर सकते हो और अपने हिसाब से लोगो को अपनी फाइल्स को एक्सेस और एडिट करने की पर्मीशन दे सकते हो।
  • कॉन्फ़िगर मल्टीप्ल इमेल्स – आउटलुक एक ईमेल क्लाइंट सर्विस है जहाँ आप कई ईमेल अकाउंट को कॉन्फ़िगर कर सकते हैं और उन्हें एक ही जगह से ऑपरेट कर सकते हैं।
  • यूज़ करने में आसान – यह बहुत ही सरल और इजी टू यूज़ प्लेटफार्म है, इसका इंटरफ़ेस ईमेल सर्विस के जैसा और फंक्शन MS वर्ड के जैसे हैं जिससे यह उपयोग करने में बहुत आसान हो जाता है।
  • कैलेंडर – आउटलुक एक इनबिल्ट कैलेंडर सर्विस उपलब्ध करता है जिससे आपको मीटिंग, अपॉइंटमेंट या रिमाइंडर क्रिएट करने के लिए अलग से कोई एप डाउनलोड नहीं करनी पड़ती।
  • सुरक्षित कांटेक्ट लिस्ट – आउटलुक एक ऑनलाइन प्लेटफार्म है जिससे आपके कांटेक्ट और डाटा ऑनलाइन सेव होते हैं जिससे आपका डिवाइस गुम जाने या किसी अनचाही स्थिति में भी आप ऑनलाइन आउटलुक से अपने कांटेक्ट एक्सेस कर सकते हैं।
  • टास्क मैनेजमेंट – आउटलुक एक इनबिल्ट टास्क मैनेजमेंट सिस्टम उपलब्ध करता है जिसमे आप अपनी टू डू लिस्ट बना सकते हैं और उसके अनुसार काम कर सकते हैं, अपना वर्क प्रोग्रेस देख सकते है, इम्पोर्टेन्स के अनुसार अरेंज कर सकते हैं।
  • टाइम मैनेजमेंट – आउटलुक से हम कई ईमेल एकाउंट्स को एक साथ एक्सेस कर सकते हैं इमेल्स देख सकते हैं, भेज सकते हैं, ग्रुप बना सकते है जिससे हमारे समय की बचत होती है।

Secret Outlook Tips And Tricks

अब तक हम आउटलुक से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बातें सीख चुके है जैसे Microsoft Outlook Kya Hai, outlook express kya hai, How to configure Outlook with Gmail, How to use Microsoft Outlook और Advantages of Microsoft Outlook, पर कुछ Secret Outlook Tips And Tricks हैं जो हम यहाँ बताने जा रहे हैं ये Secret Outlook Tips And Tricks आपके काम को बहुत ही सरल और आसान बना देंगी, तो आइये इनके बारे में जानते हैं=>

1. सर्च ईमेल – अगर आपने आउटलुक में बहुत से ईमेल एकाउंट्स को कॉन्फ़िगर किया हुआ है और आप कोई एक ईमेल या किसी एक व्यक्ति द्वारा या कीवर्ड/अटेचमेंट के द्वारा उस ईमेल को ढूढ़ना चाहो तो आप कैसे ढूंढेंगे, इमेल्स को जल्दी ढूंढने की आउटलुक में एक ट्रिक है, आउटलुक के ईमेल सेक्शन में जाइये और टूलबार में व्यू पर क्लिक कीजिये, यहाँ आपको अरेंजमेंट सेक्शन दिखेगा।

यहाँ आप मेल सर्च करने के लिए एक टर्म सेलेक्ट कर सकते हैं जैसे – डेट, फ्रॉम, टाइप, अटेचमेंट। अगर आप केवल उन इमेल्स को देखना चाहते हैं जिनमे अटेचमेंट हो तो अटेचमेंट पर क्लिक कीजिये, आपको रिजल्ट में सिर्फ वही इमेल्स दिखेंगे जिनमे अटेचमेंट होंगे।

और अगर आप करंट मेलबॉक्स में/ सभी मेल बॉक्स में/किसी सबफ़ोल्डर में सर्च करना चाहते हैं तो आप उसे सर्च बॉक्स में चुन सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि एंड्राइड फ़ोन रुट करना क्या होता है और इसके क्या फायदे और नुकसान हैं जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा पोस्ट पढ़कर इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

2. शेयर्ड कैलेंडर – अगर आप किसी ऑफिस में काम करते हो और बहुत से विभागों से जुड़े हुए हो तो आपको अलग-अलग कैलेंडर्स की जरुरत होगी जैसे पर्सनल, शेयर्ड जिनमे परमिशन भी अलग होंगी, तो आप कैसे बनाएँगे, इन सबको मैनेज करने का भी एक रास्ता है =>

Microsoft Outlook Kya Hai

कैलेंडर पर जाइये और माय कैलेंडर के बाई तरफ राइट क्लिक करके एक न्यू शेयर्ड केलिन्डर क्रिएट कीजिये, अब आपके पास दो अलग-अलग कैलेंडर हैं, शेयर्ड कैलेंडर में आप परमिशन सेट कर सकते हैं।

रिबन के शेयर सेक्शन में जाइये और कैलेंडर परमिशन पर क्लिक कीजिये, अगर आपने डिपार्टमेंट ऐड किये है तो जिस डिपार्टमेंट को आप परमिशन देना चाहते हैं उसे सेलेक्ट कीजिये और ऐड पर क्लिक कीजिये, अगली विडो में आप किसी को भी नाम से ऐड कर सकते हैं। आप परमिशन लेवल भी सेट कर सकते है कि वो सिर्फ देख/एडिट या कुछ ऐड कर सकते हैं।

3. CTRL+G गो टू डेट – अगर आप कैलेंडर में किसी एक निश्चित डेट पर जाना चाहते हैं तो आप महीना, साल सर्च करेंगे, पर इसके लिए एक ट्रिक है कैलेंडर पर जाइये और CTRL+G दबाइये और आप दी गई विंडो से किसी भी डेट को सर्च कर सकते हैं आपको सिर्फ वह डेट एंटर करना है। आप किसी भी तरह से सर्च कर सकते है जैसे date, two months before, before two weeks from today.

4. बैकग्राउंड और थीम – अगर आप अपने आउटलुक को आकर्षक बनाने के लिए उसके बैकग्राउंड और थीम को चेंज करना चाहते हैं तो फाइल पर क्लिक कीजिये, फिर ऑफिस अकाउंट पर क्लिक कीजिये, यहाँ आप किसी भी प्रकार का बैकग्राउंड या थीम जैसे डार्क ग्रे, वाइट, कलरफुल सेलेक्ट कर सकते हैं।

5. ऑटोमैटिक रिप्लाई – कई बार आपने ऑफिस या किसी अन्य के द्वारा आने वाले ऑटोमेटेड इमेल्स देखे होंगे, ये लोगों और काम को मैनेज करने में मदद करते हैं, ऑटोमैटिक इमेल्स सेट करने के लिए फाइल्स पर क्लिक कीजिए, फिर इन्फो पर, और फिर ऑटोमेटेड इमेल्स पर क्लिक कीजिये।

यहाँ पर आप ऑटोमेटेड इमेल्स और टाइमिंग सेट कर सकते हैं, जैसे जब आप ऑफिस में नहीं रहते तब की टाइमिंग, आप डिस्क्रिप्शन में अपना कस्टम मेल टाइप कर सकते हैं और ऑटोमेटेड मेल के लिए कस्टम रूल्स भी सेट कर सकते हैं।

आउटलुक में pst file क्या है (What Is pst File In Outlook)

pst फाइल आउटलुक की डाटा फाइल (.pst) है, pst file का पूरा नाम पर्सनल स्टोरेज टेबल है, यह एक प्रोप्राइटरी फाइल फॉर्मेट है जिसे माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाया गया है।

pst फाइल का उपयोग आउटलुक के डाटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है जैसे प्राप्त हुए/भेजे गए इमेल्स, फाइल्स, अटैचमेंट्स, रिकार्ड्स, कैलेंडर इवेंट्स और अन्य। pst फाइल की प्रति यूजर अकाउंट साइज लिमिट 2 GB है

क्या आप जानते हैं कि पॉडकास्ट क्या है और इसे कैसे बनाया जाता है और इससे क्या होता है जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा वह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

अंतिम शब्द

यहाँ हमने आउटलुक के बारे में सब कुछ सीखा जैसे Microsoft Outlook Kya Hai, outlook express kya hai, How to configure Outlook with Gmail, How to use Microsoft Outlook और Advantages of Microsoft Outlook और Secret Outlook Tips And Tricks

आशा करते हैं कि आप सब कुछ समझ गए होंगे अगर आपको हमारा यह प्रयास अच्छा लगा हो तो हमें कमेंट में जरूर बताएं और इसी तरह की अन्य टेक्नोलॉजी और ब्लॉगिंग से सम्बंधित जानकारी के लिए आप हमारे अन्य पोस्ट भी पढ़ सकते हैं।

इन्हे भी पढ़ें

अगर आप जानना चाहते हैं कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और इसका क्या महत्व है तो लिंक पर क्लिक करके आप हमारी ऑपरेटिंग सिस्टम की कम्पलीट हिंदी गाइड पढ़ सकते हैं।

अगर आप कंप्यूटर वायरस और उनके प्रकार के बारे में और उनसे बचने के उपाय जानना चाहते हैं तो लिंक पर क्लिक करके हमारा वह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

अगर आप इंटरनेट पर होने वाले फ्रॉड धोकेबाजी से बचना चाहते हैं तो आपको phishing क्या है और फिशिंग अटैक से कैसे बचें पता होना चाहिए और आप इसके लिए हमारा पोस्ट पढ़कर अपने आप को इंटरनेट जालसाजी से बचा सकते है।

सीखते रहो सिखाते रहो

5 thoughts on “Microsoft Outlook Kya Hai No.1 Easy and Simple Outlook Tutorial In Hindi”

  1. Pingback: Referral Code Kya Hota Hai? Easy & Complete Hindi Guide 2021 » Hinditech4u

  2. Pingback: Zip File Kya Hai? Zip File Kaise Banaye Easy & Simple Hindi Tutorial 2021 » Hinditech4u

  3. Pingback: Web Application Kya Hai? No.1 Easy & Simple Hindi Guide » Hinditech4u

  4. Pingback: Bookmark Kya Hai? No.1 Easy & Complete Hindi Guide » Hinditech4u

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *