CDN Kya Hai? CDN का वेबसाइट में सेट-अप कैसे करें Best Hindi Guide 2021

CDN KYA HAI

नमस्कार मित्रों, यहां हम आपको बताने वाले हैं कि CDN Kya Hai?, CDN कैसे काम करता है, सीडीएन के क्या फायदे और क्या नुकसान है, CDN का वेबसाइट में कैसे उपयोग करें, सबसे अच्छे सीडीएन नेटवर्क कौन कौन से हैं आदि संपूर्ण जानकारी यहां आपको प्रदान करेंगे।

मित्रों यदि आप किसी वेबसाइट या ब्लॉग के ऑनर हैं और अपनी वेबसाइट चलाते हैं तो आप जानते होंगे कि आज के समय में वेबसाइट की स्पीड का कितना महत्व है और यह रैंकिंग के लिए कितनी महत्वपूर्ण है।

गूगल रैंकिंग फैक्टर्स के अनुसार भी यदि आप की वेबसाइट की स्पीड अच्छी है तो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग भी अच्छी होती है और यदि आप की वेबसाइट की स्पीड कम होती है तो उसकी रैंकिंग डाउन हो जाती है।

कई बार वेबसाइट में अच्छी तरह ऑप्टिमाइजेशन करने के बाद भी हमारी वेबसाइट की स्पीड कम आती है जिससे वेबसाइट लोडिंग टाइम बढ़ जाता है बाउंस रेट बढ़ जाता है आदि समस्याएं आने लगती हैं।

इसके साथ ही वेबसाइट की सिक्योरिटी भी एक बहुत जरूरी फैक्टर है और साथ ही गूगल का एक रैंकिंग फैक्टर भी है आपकी वेबसाइट में एस एस एल होना बहुत जरूरी है यह आपकी वेबसाइट और यूजर दोनों को सुरक्षा प्रदान करता है।

इन सभी का उपाय सीडीएन हो सकता है क्योंकि यह हमारी वेबसाइट को फ्री में SSL सुरक्षा भी प्रदान करते हैं इसके साथ ही हमारी वेबसाइट की स्पीड को काफी बढ़ा देते हैं।

इसलिए इस पोस्ट में हम आपको सीडीएन के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं जैसे कि CDN Kya Hai?, CDN कैसे काम करता है, सीडीएन के क्या फायदे और क्या नुकसान है, CDN का वेबसाइट में कैसे उपयोग करें, सबसे अच्छे सीडीएन नेटवर्क कौन कौन से हैं आदि।

तो यदि आप भी सीडीएन के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं इस पोस्ट को अंत तक पढ़े और आपको सीडीएन के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

Contents hide

CDN Kya Hai

CDN की परिभाषा

“CDN अलग-अलग स्थानों पर स्थापित सर्वरों का एक समूह होता है जो वेबसाइट की अस्थाई फाइलों को उन सर्वरों पर संग्रहित करता है और उपयोगकर्ता के अनुरोध पर उन्हें उपयोगकर्ता के नजदीकी सर्वर से प्रदान करता है।”

CDN का अर्थ – CDN Kya Hota Hai

CDN का पूरा नाम कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क होता है जो की सर्वरों का एक नेटवर्क होता है, यह नेटवर्क पूरी दुनिया में फैला हुआ होता है, सीडीएन होस्टिंग प्रदाता से वेबसाइट की अस्थायी(कैश) फाइलें लेता है,

और उन्हें अपने सभी सर्वरों में उनकी कैश मेमोरी में संग्रहित करता है, और जब कोई उपयोगकर्ता उस वेबसाइट की फाइलों का अनुरोध करता है तब सीडीएन उन्हें अपने नजदीकी सर्वर से फाइल डिलीवर करता है, इससे वेबसाइट यूजर की मशीन में तेजी से लोड हो जाती है।

इसे भी पढ़ें – गूगल पर सर्च कैसे करें 17 बेस्ट गूगल सर्च ट्रिक्स

Content Delivery Network या CDN कैसे काम करता है

अगर आपने बॉलीवुड की लगान मूवी देखी है जिसमें आमिर खान ने मुख्य किरदार निभाया था तो, आपको पता होगा कि उस मूवी में वह एक क्रिकेट मैच खेलते हैं जिसमें आमिर खान खिलाड़ियों को समझाते हैं,

कि सभी खिलाड़ी बॉल को पकड़ने के लिए एक ही दिशा में नहीं दौड़ेंगे बल्कि बॉल जिस दिशा में जाएगी सिर्फ उसी दिशा में खड़ा खिलाड़ी ही बॉल को पकड़ने के लिए दौड़ेगा।

जब आप कोई वेबसाइट बनाते हैं तब आप किसी होस्टिंग प्रोवाइडर से होस्टिंग खरीद कर अपनी वेबसाइट की सभी फाइलों को अपने होस्टिंग अकाउंट पर रखते हैं,

आपके होस्टिंग प्रोवाइडर का कंप्यूटर जिस पर आप की फाइलें होती हैं वह एक निर्धारित स्थान पर होता है परंतु आपकी वेबसाइट पर आने वाला यूजर किसी भी स्थान से या लोकेशन से हो सकता है।

आपकी वेबसाइट का यूजर दुनिया के किसी भी स्थान पर हो सकता है और वो वहां से अपने कंप्यूटर या मोबाइल से आपकी वेबसाइट की फाइलों का अनुरोध कर सकता है, इस तरह आप की वेबसाइट की फाइलों को यूजर के हर बार अनुरोध करने पर एक स्थान से दूसरे स्थान तक ट्रेवल करना पड़ता है,

आपकी वेबसाइट की फाइलों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ट्रैवल करने में जो समय लगता है उसी के कारण आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड कम हो जाती है, तो इस समस्या का समाधान क्या है,

यदि आपके होस्टिंग प्रोवाइडर के सर्वर दुनिया के हर कोने में फैले हुए हों और सभी सर्वरों पर आपकी वेबसाइट की फाइलें उपस्थित हो तो, जैसे ही कहीं से कोई यूजर आपकी वेबसाइट की फाइलों का अनुरोध करता है तो उसके नजदीकी सरवर से आपकी वेबसाइट की फाइलों को तुरंत उपलब्ध कराया जा सकता है,

इससे आपकी वेबसाइट की फाइलों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ट्रेवल नहीं करना पड़ता और आपकी वेबसाइट की फाइलें यूजर के सिस्टम में जल्दी से लोड हो जाती हैं और यही काम सीडीएन अर्थात कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क के द्वारा किया जाता है।

CDN Kya Hai? CDN का वेबसाइट में सेट-अप कैसे करें Best Hindi Guide 2021

कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क या सीडीएन के सर्वर का नेटवर्क पूरी दुनिया में सभी लोकेशंस में पहले से ही फैला हुआ होता है सीडीएन सर्वर्स का एक नेटवर्क होता है जो पूरी दुनिया में फैला हुआ होता है।

सीडीएन आपकी वेबसाइट की अस्थाई(कैश) फाइल को आपकी वेबसाइट के सर्वर से ले लेता है और अपने सर्वर की कैश मेमोरी में संग्रहित कर लेता है, यह प्रक्रिया वह अपने पूरी दुनिया में फैले हर सर्वर पर दोहराता है, और अपने सभी सर्वर्स पर आपकी वेबसाइट की फाइलों को संग्रहित कर लेता है,

और जब भी किसी उपयोगकर्ता के द्वारा अपने कंप्यूटर या मोबाइल से आपकी वेबसाइट की फाइलों का अनुरोध किया जाता है तब वह अपने नजदीकी सर्वर से आपकी वेबसाइट की फाइलों को यूजर के सिस्टम पर उपलब्ध करा देता है,

इससे आपकी वेबसाइट की फाइलों को होस्टिंग सर्वर से यूजर की लोकेशन तक ट्रैवल नहीं करना पड़ता और आपकी वेबसाइट की फाइलें यूजर के सिस्टम में जल्दी से लोड हो जाती है और आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड बढ़ जाती है।

अब तक हमने जाना कि CDN क्या है/CDN Kya Hota Hai और CDN कैसे काम करता है आइए अब जानते हैं कि सीडीएन के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है।

इसे भी पढ़े – फिशिंग क्या है फिशिंग अटैक से कैसे बचें

कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क या CDN के फायदे(लाभ)

वेबसाइट के डाउनटाइम को कम करना

कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क आपकी वेबसाइट की उपलब्धता को बढ़ाते है क्योंकि यह वेबसाइट के डाउनटाइम को कम कर देते हैं, आपकी होस्टिंग सर्विस भी सीपीयू और रैम पर चलती है जब कोई यूजर आपकी वेबसाइट की फाइलों का अनुरोध करता है तब आपके होस्टिंग सर्वर के सीपीयू और रैम पर बहुत लोड पड़ता है,

यदि एक साथ कई यूज़र आपकी वेबसाइट की फाइलों का एक साथ अनुरोध करते हैं तो आपकी होस्टिंग का सीपीयू और रैम अधिक लोड होने की वजह से स्लो हो जाते हैं जिससे आपकी वेबसाइट स्लो हो जाती है या डाउन हो जाती है।

यदि आप कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क का उपयोग करते हैं तो आपकी वेबसाइट की फाइलें सीडीएन के विभिन्न सर्वर पर संग्रहित होती हैं और उस लोकेशन के यूजर के द्वारा आपकी वेबसाइट की फाइलों का अनुरोध करने पर फाइलों को सीधे सीडीएन के सर्वर से उपलब्ध करा दिया जाता है,

और फाइलों के अनुरोध को आपके होस्टिंग सर्वर तक आने की जरूरत नहीं पड़ती इससे आपकी होस्टिंग सर्वर का लोड कम हो जाता है और आपकी वेबसाइट स्लो या डाउन नहीं होती।

वेबसाइट की सुरक्षा को बढ़ाते हैं

होस्टिंग कंपनियां अपने होस्टिंग प्लान की कीमतों को कम करने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं उनका यही प्रयास होता है कि उनकी होस्टिंग प्लान की कीमतें कम से कम हो जिसकी वजह से कई बार होस्टिंग कंपनियां वेबसाइटों को अच्छी सुरक्षा प्रदान नहीं करती,

परंतु सीडीएन बहुत ही अच्छी फाइल सुरक्षा प्रदान करते हैं और यदि किसी ip-address से संदिग्ध ट्रैफिक आता है तो वे उसे रियल टाइम में ट्रैक कर लेते हैं।

यूजर एक्सपीरियन्स को बढ़ाना

सीडीएन आपकी वेबसाइट से फ़ाइलें चुनता है लेकिन उपयोगकर्ताओं को उनकी डिवाइस और आवश्यकताओं के अनुसार फ़ाइलें भेजता है। उपयोगकर्ताओं को केवल वही फ़ाइलें डाउनलोड करनी होती हैं जिनकी उन्हें आवश्यकता होती है, जिससे वेबसाइट के प्रदर्शन में सुधार होता है और उपयोगकर्ता अनुभव बहुत अच्छा हो जाता है।

सीडीएन सस्ते और मुफ्त हैं

सीडीएन इतने सारे लाभ प्रदान करता है, और इन सभी लाभों के बाद, वे सस्ती और मुफ्त हैं। क्लाउडफ्लेयर की अपनी मुफ्त योजना है, और आप इसे किसी भी वेबसाइट के लिए उपयोग कर सकते हैं,

और स्टैक पाथ आपको 1000 जीबी ट्रांसफर की सुविधा केवल $10 में देता है, आप इस 1000 जीबी योजना में बहुत सारी वेबसाइटें जोड़ सकते हैं, और Key सीडीएन केवल $4 प्रति माह में शुरू होता है।

इसे भी पढ़ें – लैपटॉप और कंप्यूटर की स्पीड कैसे बढ़ाएं

CDN के नकारात्मक पहलू या कमियां

सीडीएन बहुत सस्ते हैं और बहुत ही फायदेमंद होते हैं पर कुछ ऐसे भी पहलू या बिंदु हैं जिनके बारे में आपको CDN का उपयोग करने से पहले पता होना चाहिए।

CDN कोई जादुई उपाय नहीं है

यह कोई मैजिक सॉल्यूशन नहीं है जो आपकी वेबसाइट को जादुई रूप से तेज बनाता है, वे केवल आपकी वेबसाइट की फाइलों को उपयोगकर्ता को उनके निकटतम सीडीएन सर्वर से वितरित करने के लिए अपनी कैश मेमोरी में सहेजते हैं।

वेबसाइट कोड में गलती

यदि आपके वेबसाइट कोड में कोई गलती है, जो आपकी वेबसाइट को धीमा कर रहा है, तो सीडीएन सर्वर पर भी यही समस्या बानी रहेगी, यदि आपकी सीएसएस फाइलों को छोटा नहीं किया गया है या जावास्क्रिप्ट फाइलों को सिंक्रनाइज़ नहीं किया गया है,

तो वे सीडीएन सर्वर पर भी वैसी ही रहेंगी, इसलिए सीडीएन का चयन यह मानकर न करें कि केवल यह आपकी वेबसाइट को तेज बनाएगा।

सीडीएन हर वेबसाइट के लिए अनिवार्य नहीं है

उदाहरण के लिए, यदि आपकी वेबसाइट केवल किसी विशिष्ट शहर के लिए है, तो आपके सभी यूजर उसी शहर के होंगे, इसलिए इस मामले में, आपको एक सीडीएन की आवश्यकता नहीं है जो किसी अन्य देश में आपकी वेबसाइट की गति को बढ़ाए,

और यदि आपकी वेबसाइट एक ऐसी होस्टिंग कंपनी में होस्ट की गई है, जिसका आपके देश में होस्टिंग सर्वर है, तो आपको सीडीएन सेवा से गति और प्रदर्शन में कई लाभ नहीं होंगे।

यदि आप अपनी वेबसाइट से पूरी दुनिया में सेवाएं प्रदान करते हैं तो आप एक सीडीएन सेवा का उपयोग कर सकते हैं जो आपकी वेबसाइट की गति और प्रदर्शन में सुधार कर सकती है।

यहां हमने अपने पोस्ट का पहला भाग पूरा किया है और सीखा है कि कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क क्या है और सीडीएन कैसे काम करता है, और उनके लाभ और कमियां। अब हम कुछ सीडीएन प्रदाता कंपनियों को देखते हैं और सीखेंगे कि हमारी वेबसाइट पर एक मुफ्त सीडीएन कैसे स्थापित करें।

इसे भी पढ़ें – बुकमार्क क्या है बुकमार्क कैसे बनाये

कान्वेंट डिलीवरी नेटवर्क कम्पनीज और CDN प्रोवाइडर्स

सीडीएन प्रदाता वे कंपनियां हैं जो कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क सेवाएं प्रदान करती हैं, उनके पास दुनिया भर में अपने स्वयं के सर्वर नेटवर्क हैं, यहां कुछ लोकप्रिय सीडीएन नेटवर्क कंपनियों के बारे में बताया गया है =>

Akamai CDN

अकामाई एक प्रसिद्ध सीडीएन सेवा प्रदाता कंपनी है, वे साइबर सुरक्षा और वेब इंटरनेट सुरक्षा सेवाएं भी प्रदान करती हैं। उनके पास सभी स्थानों पर विभिन्न प्रकार की सीडीएन सेवाएं हैं लेकिन उनके पास कोई मुफ्त सीडीएन योजना नहीं है।

Stack Path

स्टैक पाथ भी एक लोकप्रिय सीडीएन प्रदाता कंपनी है, उनके पास बहुत सस्ती सीडीएन योजनाएं हैं लेकिन सीडीएन की कोई मुफ्त योजना नहीं है यदि आप स्टैक पाथ का उपयोग करना चाहते हैं तो आपको पैसों का भुगतान कर सीडीएन योजना लेनी होगी।

Cloudflare

क्लाउडफ्लेयर सबसे लोकप्रिय कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क प्रदाता कंपनियों में से एक है, उनके पास अलग-अलग सीडीएन योजनाएं भी हैं लेकिन वे सीडीएन सेवा की मुफ्त सीडीएन योजना भी पेश करते हैं,

CDN Kya Hai? CDN का वेबसाइट में सेट-अप कैसे करें Best Hindi Guide 2021
यह इमेज क्लॉउडफ्लेयर की वेबसाइट से ली गई है

इसलिए यदि आप एक बिगिनर हैं तो आप उनकी मुफ्त योजना चुन सकते हैं यह फ्री प्लान में भी वही सीडीएन प्रदान करेगा जो सशुल्क योजना के रूप में प्रदान करता है लेकिन सीमित सुविधाओं के साथ प्रदान करेगा।

Key CDN

Key CDN भी एक प्रसिद्ध सीडीएन प्रदाता कंपनी है, उनके पास विभिन्न कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क प्लान्स भी हैं जो आप उनकी वेबसाइट पर देख सकते हैं जो की बहुत कम कीमत पर हैं,

Key CDN सर्वोत्तम सुरक्षा सेवाएं भी प्रदान करते हैं लेकिन उनके पास सीडीएन सेवाओं की कोई भी मुफ्त योजना नहीं है, इसलिए यदि आप Key CDN सीडीएन के साथ जाना चाहते हैं तो आपको सीडीएन सेवाओं के लिए उनका पेड प्लान लेना होगा।

इन सभी की अलग-अलग विशेषताएं और सेटअप के अलग-अलग तरीके हैं, लेकिन अगर आप मुफ्त सीडीएन का उपयोग करना चाहते हैं तो आपको क्लाउडफ्लेयर का उपयोग करना चाहिए, यह प्रदर्शन, सुरक्षा और अपटाइम में बहुत अच्छा है।

इसका फ्री प्लान है और यह सबसे पॉपुलर सीडीएन प्रोवाइडर कंपनी है, आपने इसके बारे में जरूर सुना होगा। तो यहां हम सीखेंगे कि क्लाउडफ्लेयर फ्री सीडीएन प्लान कैसे सेट करें।

इसे भी पढ़ें – ज़िप फाइल क्या है ज़िप फाइल कैसे बनायें

क्लॉउडफ्लेयर CDN का वेबसाइट में सेट-अप कैसे करें (फ्री प्लान)

क्लाउडफ्लेयर पर अपना अकाउंट बनाये

cloudflare.com पर जाइये और sign up पर क्लिक कीजिये, अब अपना ईमेल आईडी और पासवर्ड एंटर करके एड अकाउंट पर क्लिक कर दीजिये, क्लाउड फ्लेयर पर आपका अकाउंट बन जाएगा।

अपनी वेबसाइट को क्लाउडफ्लेयर पर एड कीजिये

Cloudflare पर अपना खाता बनाने के बाद Add साइट पर क्लिक करें, फिर अपनी वेबसाइट URL दर्ज करें, इसे WWW या HTTP की आवश्यकता नहीं है, आप एक नग्न URL दर्ज कर सकते हैं। अपना यूआरएल भरने के बाद ऐड साइट पर क्लिक करें।

CDN Kya Hai? CDN का वेबसाइट में सेट-अप कैसे करें Best Hindi Guide 2021
यह इमेज क्लॉउडफ्लेयर की वेबसाइट से ली गई है

प्लान चुने

अपनी साइट जोड़ने के बाद, आपको अगली विंडो पर निर्देशित किया जाएगा जहां आपको अपने सीडीएन प्लान का चयन करना होगा, यहां हम एक मुफ्त प्लान के साथ जाएंगे, फ्री प्लान को चुनें और कंटिन्यू पर क्लिक करें।

Cloudflare DNS प्रबंधन और प्रॉक्सी फ़ाइलें बनाना

अगली विंडो में, यह आपकी वेबसाइट के DNS रिकॉर्ड की जाँच करेगा और आपकी वेबसाइट फ़ाइलों की प्रॉक्सी फ़ाइलें बनाएगा, आपको यहाँ कुछ भी करने की ज़रूरत नहीं है बस नीचे स्क्रॉल करें और कंटिन्यू पर क्लिक करें।

अपना स्वमित्व सिद्ध करें

अब आपको अपनी वेबसाइट पर अपना स्वामित्व साबित करना होगा क्योंकि क्लाउड फ्लेयर को इस बात की पुष्टि की आवश्यकता होगी कि यह वेबसाइट आपकी है और आप किसी अन्य की वेबसाइट पर बदलाव नहीं कर रहे हैं। ऐसा करने के लिए दो तरीके हैं 1- नेमसर्वर बदलना, 2- डोमेन ट्रांसफर।

डोमेन स्थानांतरण एक नया जोड़ा गया तरीका है और यह केवल तभी काम करेगा जब आपका डोमेन न्यूनतम दो महीने पुराना हो और आपने दो महीने के भीतर अपने डोमेन में कोई बदलाव नहीं किया हो, इसलिए हम पहली डिफ़ॉल्ट विधि वेबसाइट के नेम नेमसर्वर को क्लाउडफ्लेयर नेमसर्वर से बदलने को प्राथमिकता देते हैं।

नेम नेमसर्वर को क्लाउडफ्लेयर नेमसर्वर से बदलना

डिफ़ॉल्ट विधि पर क्लिक करें यहां आपको अपना मौजूदा नेम सर्वर और क्लाउडफ्लेयर के दो नए नेम सर्वर दिखाई देंगे जिन्हें आपको अपने डोमेन रजिस्ट्रार खाते में बदलना होगा। अब इस Cloudflare के नेमसर्वर को कॉपी करें और अपने डोमेन रजिस्ट्रार अकाउंट में जाकर DNS पर क्लिक करें।

यहाँ आपको आपकी वेबसाइट के मौजूदा नेमसर्वर दिखेंगे, चेंज पर क्लिक करें और अपने नेमसर्वर को क्लाउडफ्लेयर नेमसर्वर से बदल दें। आपके नेमसर्वर को ग्लोबली अपडेट करने में अधिकतम 24 घंटे लग सकते हैं या इसमें एक या दो घंटे लग सकते हैं।

क्लाउडफ्लेयर DNS सेटिंग्स

जब आपके नेमसर्वर सफलतापूर्वक बदल दिए जाते हैं, तो आपको कुछ कॉन्फ़िगरेशन करना होगा,

SSL/TLS encryption mode – फ्लेक्सिबल सेलेक्ट करें

always use HTTPS – ऑन करें

HTML, CSS, and JavaScript – minify करने पर चेकमार्क करें

brotli ऑन करें और फिर Done पर क्लिक करें।

रीचेक नेमसर्वर

अगली विंडो में, यह आपको अपना नाम सर्वर सेटअप पूरा करने के लिए कहेगा, लेकिन जैसा कि हमने अभी-अभी अपने नेमसर्वर को बदला है, इसलिए रीचेक नेमसर्वर पर क्लिक करें, आपके नाम सर्वर बदलने के बाद कुछ समय लग सकता है, उसके बाद क्लाउडफ्लेयर आपकी वेबसाइट के साथ लिंक हो जाएगा।

इस तरह आप क्लाउडफ्लेयर को अपनी वेबसाइट के साथ लिंक कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट की स्पीड बढ़ा सकते हैं, डाउन टाइम कम कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – वेब एप्लीकेशन क्या है वेबसाइट और वेब एप्लीकेशन में क्या अंतर है

यहाँ पर हमने सीडीएन से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने का प्रयास किया है जैसे CDN Kya Hai? (कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क क्या है), CDN कैसे काम करता है, CDN के फायदे और क्या नुकसान है, CDN का वेबसाइट में सेट-अप कैसे करें, सबसे अच्छे सीडीएन नेटवर्क कौन कौन से हैं।

यदि आपके मन में CDN या उसके उपयोग से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं हम आपके सवालों के जवाब जरूर देंगे।

यदि आपको हमारा यह प्रयास पसंद आया हो तो इसे अन्य लोगों तक शेयर करें और हमारी वेबसाइट के नोटिफिकेशन बेल को सब्सक्राइब कर लें ताकि आपको हमारे आने वाले सभी लेखों की जानकारी प्राप्त हो जाए।

इसे भी पढ़ें – 10 Best Free Audiobook Websites

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here