Affiliate Marketing Kya Hai Best Free Guide In Hindi 2021

Affiliate Marketing Kya Hai

नमस्कार मित्रों यहाँ हम एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में जानेंगे कि एफिलिएट मार्केटिंग क्या है(Affiliate Marketing Kya Hai), एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करें, एफिलिएट नेटवर्क क्या है।

एफिलिएट मार्किट दुनिया का सबसे बड़ा मार्किट है और लोग इससे लाखों रूपए कमाते हैं पर उन लोगों का प्रतिशत बहुत कम है और ज्यादातर लोग ऐसे भी हैं जो कभी कुछ नहीं कमा पाते।

इसका सबसे बड़ा कारण होता है सही जानकरी और अनुभव का ना होना, और कोई भी काम जिसके बारे में आपको सही जानकारी ना हो उसे करने में नुकसान होने के संयोग ज्यादा होते हैं।

तो यदि आप एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में जानना चाहते हैं कि Affiliate Marketing Kya Hai, affiliate marketing kaise kare, एफिलिएट मार्केटिंग के प्रकार(types of affiliate marketing) तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े और हमारे नोटिफिकेशन बेल को सब्सक्राइब कर ले ताकि आपको हमारे सभी नए पोस्ट की जानकारी तुरंत मिल सके।

Affiliate Marketing Kya Hai(Affiliate Marketing In Hindi)

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है (What Is Affiliate Marketing In Hindi)

एफिलिएट मार्केटिंग, मार्केटिंग का वह विभाग है जिसमे हम किसी दूसरे की कंपनी या वेबसाइट के प्रोडक्ट्स, सर्विसेज की मार्केटिंग और प्रमोशन करते हैं और जब कोई उपभोक्ता हमारे द्वारा दिए गए लिंक से जाकर उस कंपनी या वेबसाइट के उस प्रोडक्ट को खरीदता है तो हमें उसका कमीशन मिलता है।

जब हम अपने किसी प्रोडक्ट या सर्विस की मार्केटिंग या प्रमोशन करते हैं तो इसे मार्केटिंग कहा जाता है पर वही मार्केटिंग जब हम किसी और के प्रोडक्ट के लिए करते हैं तो उसे एफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता हैं जिसके बदले हमें उस प्रोडक्ट के विक्रय पर एक पूर्व निर्धारित कमीशन प्राप्त होता है।

एफिलिएट मार्केटिंग के लिए हमें एफिलिएट प्रोडक्ट्स उपलबध करने वाली कंपनियों या वेबसाइट के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करना होता है और फिर हम उनके जिस प्रोडक्ट की मार्केटिंग या प्रमोशन करना चाहते हैं उसका एफिलिएट/प्रमोशनल लिंक लेना होता है।

फिर हम उस प्रोडक्ट को अपने नेटवर्क जैसे वेबसाइट, सोशल मीडिया आदि पर प्रमोट करते हैं और अपना एफिलिएट लिंक देते हैं और जब कोई उस लिंक के द्वारा उस वेबसाइट से उस प्रोडक्ट को खरीदता है तो हमें उस प्रोडक्ट का कमीशन मिलता है।

रेफरल कोड/ रेफरल लिंक क्या होता है?

एफिलिएट मार्केटिंग की शब्दावली

एफिलिएट(Affiliate)

एफिलिएट उस व्यक्ति को कहा जाता है जो किसी कंपनी या वेबसाइट के प्रोडक्ट्स को प्रमोट करने के लिए एफिलिएट नेटवर्क या उस वेबसाइट के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करता है।

ऑफर(Offer)

ऑफर किसी प्रोडक्ट या सर्विस का प्रमोशन करने के लिए एफिलिएट नेटवर्क द्वारा अपने एफिलिएट को दिया जाने वाला प्रमोशनल ऑफर होता है जिसमे उस प्रोडक्ट की जानकारी, प्रमोशन करने के नियम, शर्तें और उस पर दिए जाने वाले कमिशन की जानकारी होती है।

एफिलिएट नेटवर्क(Affiliate Network)

एफिलिएट नेटवर्क एक ऐसी कंपनी या वेबसाइट होती है जो अन्य कंपनियों द्वारा एफिलिएट मार्केटिंग के प्रदान किये जाने वाले प्रोडक्ट्स या ऑफर्स को अपनी वेबसाइट पर लिस्ट(दिखाती) करती है और फिर उसके एफिलिएट वहाँ से उन प्रोडक्ट की जानकारी और एफिलिएट लिंक लेकर उसको प्रमोट करते हैं। जैसे MaxBounty.com

एफिलिएट प्रोग्राम(Affiliate Program)

एफिलिएट प्रोग्राम किसी कंपनी या वेबसाइट का वह प्रोग्राम/विभाग होता है जिसके द्वारा वह अपने प्रोडक्ट्स को एफिलिएट मार्केटिंग के लिए उपलब्ध कराते हैं, जो भी व्यक्ति इनके प्रोडक्ट्स की एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहता है वह इनके एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करके उनका प्रमोशन कर सकता है।

एफिलिएट मार्केटिंग के प्रकार(Types Of Affiliate Marketing)

एफिलिएट मार्केटिंग मुख्यतः दो प्रकार की होती है।

प्रति बिक्री लागत/Cost Par Sale ( CPS )

एफिलिएट मार्केटिंग के इस प्रकार में कोई भी एफिलिएट जब किसी प्रोडक्ट या ऑफर को प्रमोट करता है तो जब कोई यूजर उसके एफिलिएट लिंक से प्रोडक्ट की वेबसाइट पर जाकर उस प्रोडक्ट को खरीदता है तभी उस एफिलिएट को उसका कमीशन मिलता है।

और जब तक कोई उसके एफिलिएट लिंक से जाकर प्रोडक्ट नहीं खरीदता तब तक उसे कोई कमीशन नहीं मिलता इसीलिए इसे कॉस्ट पर सेल कहा जाता है।

प्रति कार्य लागत/Cost Par Action ( CPA )

एफिलिएट मार्केटिंग के व्यवसाय में आज के समय में CPA मार्केटिंग बहुत बड़ा और महत्वपूर्ण मार्केट बन गया है और बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है।

CPA मार्केटिंग के ऑफर्स में एफिलिएट को प्रोडक्ट के विक्रय पर नहीं बल्कि यूजर द्वारा उसके एफिलिएट लिंक के द्वारा प्रोडक्ट/ऑफर की वेबसाइट पर जाकर किसी पूर्व निर्धारित कार्य को करने पर कमीशन मिलता है। जैसे साइनअप करना, ईमेल सबमिट करना, फ़ोन नंबर वेरिफाई करना आदि।

CPA मार्केटिंग में अलग अलग तरह के ऑफर्स होते हैं जैसे =>

  1. CPI – इसे कॉस्ट पर इनस्टॉल कहा जाता है, और इसमें यूजर ऑफर की वेबसाइट पर जाकर उनकी एप या सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करना होता है।
  2. CAL – इसे कॉस्ट पर लीड कहा जाता है, इसमें यूजर को वेबसाइट पर जाकर साइनअप(अपनी जानकारी देना) करना होता है।
  3. CPV – इसे कॉस्ट पर विजिट कहा जाता है, इसमें सिर्फ यूजर के लिंक पर क्लिक करके वेबसाइट विजिट करने पर ही एफिलिएट को कमीशन मिल जाता है।
  4. ZIP/PIN वेरिफिकेशन – इसमें यूजर को वेबसाइट पर जाकर अपना फ़ोन नंबर/ईमेल देना होता है और उस पर आने वाले लिंक या कोड को एंटर करके अपना नंबर या ईमेल वेरीफाई करना होता है।
  5. सर्वे – इस प्रकार के ऑफर्स में यूजर को वेबसाइट पर जाकर अपना अकाउंट बनाना होता है और उनके द्वारा दिए जाने वाले सर्वे में भाग लेना होता है सर्वे पूरा करने पर यूजर को रिवॉर्ड के रूप में पैसे या पॉइंट्स मिलते हैं।
  6. ईमेल सबमिट – इस तरह के ऑफर्स में यूजर को वेबसाइट पर जाकर सिर्फ अपना ईमेल सबमिट करना होता है।

अब हम सीख चुके हैं कि Affiliate Marketing Kya Hai और उसके प्रकारों के बारे में भी जान चुके है पर अभी आपके मन में सवाल होगा कि एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे और एफिलिएट नेटवर्क को ज्वाइन कैसे करें तो आइये इनके बारे में भी जान लेते हैं।

Affiliate Network/Program Join Kaise Karen

अगर आप एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहते हैं तो आपको पहले किसी एफिलिएट प्रोग्राम/नेटवर्क को ज्वाइन करना होगा,

CPS एफिलिएट मार्केटिंग

यदि आप CPS एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कॉस्ट पर सेल के ऑफर प्रोवाइड करने वाली वेबसाइट के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करना होगा जैसे -अमेज़न एफिलिएट प्रोग्राम, clickbank.com, digistore.com, commission junction आदि।

किसी भी वेबसाइट के एफिलिएट प्रोग्राम का पता लगाने के लिए आप गूगल की मदद ले सकते हैं सिर्फ गूगल पर जाकर उस वेबसाइट के साथ एफिलिएट प्रोग्राम लिखकर सर्च कर दीजिये जैसे flipkart affiliate program

अगर उस कंपनी का एफिलिएट प्रोग्राम होगा तो गूगल आपको दिखा देगा और फिर आप उनके एफिलिएट प्रोग्राम पर जाकर उसे एफिलिएट के रूप में (as an affiliate) ज्वाइन कर सकते हैं।

नोट – लगभग सभी एफिलिएट प्रोग्राम्स को ज्वाइन करने का तरीका एक जैसा ही होता है पर सबकी कुछ अलग रिक्वायरमेंट्स और कंडीशन हो सकती है जिनके बारे में आप पहले उनकी वेबसाइट, गूगल या यूट्यूब पर सर्च कर सकते हैं।

CPA एफिलिएट मार्केटिंग

CPA एफिलिएट मार्केटिंग CPS मार्केटिंग का एक बहुत ही अच्छा विकल्प है और आसान भी है क्युकि इसमें आपको कोई ऑफर या प्रोडक्ट बेचना नहीं होता सिर्फ यूजर से कोई एक्शन करवाना होता है।

और इसलिए इस तरह के ऑफर्स को प्रमोट करना और उनसे पैसे कामना बहुत आसान हो जाता है। पर अच्छे CPA नेटवर्क को खोजना और उसे ज्वाइन कर पाना थोड़ा मुश्किल होता है।

CPA एफिलिएट मार्केटिंग के लिए MaxBounty.com बहुत ही अच्छा और फेमस नेटवर्क है और इस पर बहुत ही अच्छे ऑफर्स उपलब्ध होते हैं जिन्हे हम प्रमोट कर सकते हैं।

आप ऊपर दिए गए लिंक से आप Max Bounty की वेबसाइट पर जा सकते हैं और इस वीडियो में बताये गए तरीके से उनके एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते है और अप्रूवल प्राप्त कर सकते हैं।

Affiliate Marketing Kaise Kare

एफिलिएट नेटवर्क पर अपना अकाउंट बना लेने के बाद आपका सवाल होगा की एफिलिएट ऑफर्स को प्रमोट कैसे करें क्युकि यही सबसे महत्वपूर्ण काम है और इसी पर हमारी सफलता और असफलता निर्भर करती है।

किसी भी एफिलिएट ऑफर को प्रमोट करने के दो तरीके होते हैं पहला फ्री मेथड और दूसरा पेड मेथड। आइये इनके बारे में जानते हैं।

फ्री मेथड

फ्री मेथड में आते हैं – सोशल मीडिया पर अपने लिंक को शेयर करना जैसे फेसबुक पेजों पर, ग्रुप्स, ट्विटर, व्हाट्सप्प ग्रुप्स, आदि पर, उस प्रोडक्ट्स से सम्बंधित वीडियो बनाकर अपने यूट्यूब चैनल पर अपलोड करना और अपना एफिलिएट लिंक शेयर करना।

इसके अलावा यदि आपके पास आपका ब्लॉग या वेबसाइट है तो आप उस पर भी बैनर लगाकर या उस ऑफर और प्रोडक्ट से सम्बंधित पोस्ट भी लिख सकते हैं और उस पर अपना एफिलिएट लिंक लगा सकते हैं।

इन तरीकों से प्रमोशन करना थोड़ा ज्यादा मेहनती काम होता है पर यदि आपके पास आपके ऑफर से रिलेटेड ग्रुप्स है और सोशल मीडिया प्रमोशन और सही ऑडियंस को टारगेट करते हैं तो फ्री प्रमोशन से भी अच्छे पैसे कमा सकते हैं।

नोट – बहुत से प्लेटफार्म डायरेक्ट एफिलिएट लिंक प्रमोट करना allow नहीं करते तो आप इसके लिए पहले एक लैंडिंग पेज बना सकते हैं या अधिक जानकारी के लिए यूट्यूब या गूगल पर सर्च कर सकते हैं।

पेड मेथड

पेड मेथड से एफिलिएट मार्केटिंग करना बहुत आसान होता है क्युकि इसमें आपको ट्रैफिक तक पहुंचने के लिए अपने एफिलिएट लिंक को कई जगह शेयर नहीं करना पड़ता।

पेड मेथड में गूगल एड्स, बिंग एड्स, फेसबुक एड्स, पेड सोशल मीडिया प्रमोशन, यूट्यूब एड्स और अन्य एड नेटवर्क्स पर अपने ऑफर की एड लगाकर अपने ऑफर पेज पर ट्रैफिक लाना होता है। आपकी एड चालू होते ही आपके ऑफर पर ट्रैफिक आना शुरू हो जाता है।

पर इसमें भी आपको तीन चीजों का ध्यान रखना होता है सही कीवर्ड, सही लैंडिंग पेज और सही ऑफर।

आपके कीवर्ड आपके प्रोडक्ट/ऑफर से रिलेटेड होने चाहिए, आपका लैंडिंग पेज आपके ट्रैफिक को ऑफर वेबसाइट पर ड्राइव करने के लायक होना चाहिए और आपका ऑफर ऐसा होना चाहिए जो जिससे यूजर को कुछ वैल्यू मिल रही हो।

नोट – बहुत से प्लेटफार्म डायरेक्ट एफिलिएट लिंक प्रमोट करना allow नहीं करते तो आप इसके लिए पहले एक लैंडिंग पेज बना सकते हैं और लैंडिंग पेज और पेड प्रमोशन की अधिक जानकारी के लिए यूट्यूब या गूगल पर सर्च कर सकते हैं।

अंतिम शब्द

हमने अपने इस आर्टिकल में एफिलिएट मार्केटिंग से जुड़े सभी पहलुओं जैसे affiliate marketing kya hai, Affiliate Marketing Kaise Kare, Types Of Affiliate Marketing ,affiliate marketing in hindi आदि को समझाने का प्रयास किया है।

एफिलिएट मार्केटिंग एक बहुत ही बड़ा विषय है और सभी चीजों एक छोटे से आर्टिकल में समाहित कर पाना संभव नहीं है तो आप एफिलिएट मार्केटिंग से जुड़े अन्य नए आर्टिकल के लिए हमारे नोटिफिकेशन बेल को सब्सक्राइब कर ले ताकि जब भी कोई आर्टिकल आये तो आपको उसकी जानकारी मिल जाए।

यदि आपके मन में एफिलिएट मार्केटिंग से सम्बंधित कोई सवाल हो तो हमें कमेंट के माधयम से जरूर बताये और यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अन्य लोगों तक भी जरुर पहुंचाए।

इन्हे भी पढ़ें

गूगल अकाउंट/जीमेल ID कैसे बनाते हैं

गूगल पर सर्च कैसे करे 17 बेस्ट गूगल सर्च ट्रिक्स इन हिंदी

सीखते रहो सिखाते रहो

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version